Guru Chandal Dosh Puja

गुरू चांडाल दोष क्या है?

जब किसी भी व्यक्ति की जन्मकुंडली बनाई जाती है तो उसमे कई योग बनते है जिनका प्रभाव हमारे जीवन पर पड़ता है। ज्योतिष शास्त्र के अनुसार किसी भी व्यक्ति की कुंडली मे कई प्रकार के अच्छे और बुरे दोषो का योग बनता है। अच्छे योग व्यक्ति को सफलता दिलाते है तो वही बुरे योग व्यक्ति के जीवन मे कई समस्याए लाते है। इसी प्रकार के योगो मे से एक योग गुरु चांडाल दोष है। यह योग गुरु, राहू और केतू के मिलने से बनता है। अगर यह लग्न के पंचम भाव या नवे भाव मे हो तो बहुत ही हानिकारक माना जाता है। 

Guru Chandal Dosh Puja

गुरु चांडाल दोष के लक्षण-

  • जिस किसी जातक की कुंडली मे गुरु चांडाल दोष होता है उसका चरित्र अशक्त हो जाता है।
  • इस दोष के कारण जातक सदैव बीमारियो से घिरा रहता है। 
  • पाचन तंत्र, कैंसर या अन्य किसी गंभीर बीमारी होने का डर रहता है। 
  • अकीर्ति या निंदा का सामना करना पड़ता है। 
  • व्यक्ति के धर्मभ्रष्ट होने का खतरा बढ जाता है। 
  • किसी महिला की जन्मकुंडली मे यह दोष हो तो उसे वैवाहिक जीवन मे बहुत समस्याओ का सामना करना पड़ता है। 
  • इस दोष के कारण व्यक्ति के अच्छे गुण कम हो जाते है, और नकारात्मक या बुरे गुण बढ़ जाते है। 
  • अनैतिक या अवैध कार्यो मे व्यक्ति की रुचि बढने लगती है। 

गुरु चांडाल दोष कब प्रभावहीन हो जाता है?

जब राहू गुरु के साथ कोई दूसरा ग्रह भी साथ रहे तो इस दोष का प्रभाव कम हो जाता है, परमात्मा की असीम कृपा हो, बृहस्पति उच्च राशि मे हो तो निम्न दशाओ मे गुरु चांडाल दोष का प्रभाव व्यक्ति के जीवन पर नहीं पड़ता है। 

Contact Now

पंडित जी के पास वर्षभर गुरु चांडाल दोष निवारण पूजा के लिए लोग आते है, और अपनी समस्याओ और बाधाओ से छुटकारा पाते है। अगर आप भी गुरु चांडाल दोष पूजा उज्जैन मे करवाना चाहते है, तो नीचे दी गई बटन पर क्लिक करके पंडित जी से बात कर सकते है। 

Call Pandit Ji for Puja Booking

X